Recent Posts

Tags

Beena Murga Punishment


PART 2


गत अंक में आपने पढ़ा कि किस तरह से बीना के मन में मुर्गा पनिशमेंट की चाहत उसको शारदा मैम के कोचिंग सेंटर में पहुंचा देती है। जहां एडमीशन के साथ ही उसको पनिशमेंट की डोज मिलती है। सलमा से मार खाने के बाद वो घर आती है। आइने में अपने नंगे चूतड़ों पर बने बेंत के निशान एवं उससे आयी सूजन पर हाथ फेरने के बाद उसको मजा आता है। रात को जब भी वो बिस्तर पर करबट बदलती। चूतड़ों पर लगी मार की याद उसको ताजा हो जाती है। अगली सुबह जब वो उठी तो घर पर वह काफी खुश थी लेकिन उसकी खुशी उस समय टेंशन में बदल गयी जब उसकी बेटी संध्या की सहेली दीक्षा ने अचानक घर पहुंचकर उसे बताया कि संध्या की जाॅब भी टीचर के रूप में कोचिंग में लग गयी है। वह बेटी के सामने मुर्गा नहीं बनना चाहती थी। उसने पूछा कि टाइमिंग क्या रहेगी। दीक्षा ने कहा आंटी इसको शाम पांच से सात के बैच लेने हैं। मैं भी उसी टाइम के बैच लूंगी। टेंशन की कोई बात नहीं है। हम साथ ही आयेंगे। यह सुनकर उदास एवं चितिंत हुई बीना के चेहरे पर मुस्कान आ गयी। उसे लगा कि उसका राज बना रहेगा और उसको मुर्गा पनिशमेंट का मजा भी मिलता रहेगा। पूरे हफ्ते तक मुर्गा पनिशमेंट का मजा लेने के बाद जब वो शनिवार को कोचिंग सेंटर पहुंची तो उसने देखा कि पूरे कारीडोर में उसके बैच की हमउम्र चार औरतें मुर्गा बनी खड़ी थी। सलमा ने उसको देखते हुए कहा चलो महारानी तुम भी अपनी जगह चुन लो। शारदा मैम ने तुम्हारी परफार्मेंस से खुश नहीं हैं। अगर तुमको कोचिंग कन्टीन्यू करना है तो परफार्मेंस सुधारने के साथ टीचर की गारंटी लानी होगी। बीना चुपचाप मुर्गा बन गयी। सलमा ने सभी की पीठ पर एक तख्ता रख दिया और उस पर गमले रख दिये। करीब 30 मिनट तक एक पोजीशन में उनको मुर्गा बनाकर रखने के बाद सभी को एक परफार्मेंस स्लीप दी गयी। सलमा ने बताया कि कोचिंग के सभी टीचरों की गारंटी कपंलसरी है। बीना को चुप देखकर उसकी सहेली प्रतिक्षा ने कहा क्यों घबराती हो। कल चुपचाप सबके घर जाना और जैेसे हम लिफाफे देकर गारंटी लाते हैं। तुम भी ले आना। यहां तो ऐसा ही होता है। अगर लिफाफा न दूं तो। बीना ने कहा। ऐसा मत करना नहीं तो टीचर बहुत टफ पनिशमेंट देती हैं। चलो कोई बात नहीं मैं देख लूंगी। बीना कह तो आयी लेकिन उसको समझ में नहीं आ रहा था कि वो क्या करे। अब वो चाहकर भी राज नहीं छिपा सकती थी। उसके मन में उथलपुथल चल रही थी। रात को दीक्षा एवं संध्या को चहकते देखकर बीना ने पूछा क्या बात है। दीक्षा ने कहा आंटी कल हमको बहुत रूपये मिलेंगे। हमारे स्टूडेंट गारंटी के बदले लिफाफा देंगे। उसमें क्या होता है। कोई भी ऐसा एमाउन्ट जो हमें खुश कर दें और हम बिना सजा दिये चुपचाप उसके साइन कर देते हैं। और अगर कोई न दे तो, बीना ने पूछा। फिर उसकी शामत आनी तय है आंटी। उसको इतनी सजा मिलती है कि नेक्स्ट संडें को वो खुद मोटा लिफाफा लेकर आता है। देर रात तक बीना सोचती रही। फिर उसने तय किया कि वो पहली गारंटी अपनी बेटी से ही लेगी।

सुबह वो सोकर उठी तो उसको घर के बाहर से सांय सांय की आवाज आयी। उसकी बेटी संध्या ने चार फीमेल स्टूडेंट को मुर्गा बना रखा था। 20 से 23 साल के बीच की चारों लड़कियों ने शाटर्स पहन रखे थे। गार्डन में मुर्गा परेड को देखकर उसकी रूह फना हो गयी। वो क्या करे। समझ में नहीं आ रहा था। उसने सोचा कि चुपचाप वो संध्या से बात कर ले और उसे समझा कर साइन करा ले। इस बीच अपनी सभी स्टूडेंट के साथ अंदर आयी संध्या ने सभी के लिफाफे लेकर उन पर साइन कर दिये। हाथ में काला बेंत थामे संध्या रिलेक्स हो रही थी कि बीना ने चुपचाप उसको लेटर थमा दिया। लैटर को देखते ही संध्या ने उसे ऊपर से नीचे देखा। ओके क्या करना है बोला। उसकी टोन बदली हुई थी। बेटा साइन कर दो। तपाक से दो चपत उसके गाल पर संध्या ने जोर से मारते हुए कहा तुमको बताया नहीं किसी ने टीचर से कैसे बात की जाती है। बीना सिटपिटा गयी। संध्या ने उसके कानों को पकड़ कर उमेटना शुरू कर दिया। लगता तुमको बताना ही पड़ेगा कि लिफाफा तो सबको देना ही होता है। अब तुम मेरी माॅम नहीं स्टूडेंट हो। दीक्षा ने मुझसे कहा था तुम्हारे बारे में। लेकिन चलो अब मैं सब जान ही गयी हूं चलो उसको कानों को खींचकर कहा ये साड़ी में मुर्गा नहीं बनाती मैं। चलो शाटर्स पहनकर आओ। बीना को शर्म तो आ रही थी लेकिन वो आज्ञाकारी बच्चे की तरह अंदर गयी और शाटर्स पहनकर बाहर आ गयी। बीना के कानों को उमेठते हुए उसको मुर्गा बनाकर संध्या ने काला रूल उसके चूतड़ों पर फिराना शुरू कर दिया। और सटाक सटाक करके बेंत लगाने शुरू कर दिये। बीना अपने चूतड़ों को अपडाउन करके आवाज को गले में ही रखने की कोशिश कर रही थी लेकिन संध्या के बेंत के प्रहार रूक ही नहीं रहे थे। किसी स्कूली बच्चे की तरह रोते हुए वो चूतड़ों को ऊपर नीचे करते हुए रहम की भीख मांग रही थी। तकरीबन लगातार 25 बेंत जमाने के बाद जब संध्या ने उसको बाहर चलने का इशारा किया तो उसकी हालत खराब हो गयी लेकिन संध्या ने बेंत के करारे प्रहारों ने उसे गार्डन में पहुंचा दिया। लिफाफा देना है अभी या नहीं। गार्डन में पहुंचकर संध्या ने पूछा तो बीना ने मना कर दिया। अब बीना के गले में छोटी रस्सी से एक पत्थर बांध कर संध्या ने उसके पिछबाड़े से बांधकर भी एक पत्थर लटका दिया। अब बीना समझ चुकी थी कि उसको कितना दर्द झेलना था। चूतड़ हवा में रहने पर गले का पत्थर जमीन पर रहता। बरहाल एक पत्थर लटकना तय था। इस हालत में बीना के चूतड़ों पर तड़तड़ा मार लगाते हुए गेट के बाहर जाकर मुर्गा बनने को कहा। गले में बंधे पत्थर खिसकाने एवं चूतड़ों से बंधे पत्थर को हवा में लटकते हुए लेकर चलने में उसकी जान निकल रही थी लेकिन बीना लिफाफा देने को तैयार नहीं थी। वो अब अपने ही गेट के पास मुर्गा बनी खड़ी थी। इतने में सामने से दीक्षा आ गयी। अरे ये क्या आंटी क्यों मुर्गा बनी हैं। अरे यार इन्होंने कोचिंग ज्वाइन की थी। अब बिना लिफाफे के गारंटी साइन तो नहीं होगी। ये मान ही नहीं रही। दीक्षा ने कहा आंटी मान भी जाओ। तुम्हारी बेटी बहुत सख्त है लिफाफे के मामले में। तुम जानती नहीं हो। बीना ने साफ इंकार कर दिया। अब उसका पारा चढ़ा। लान में पड़े दो क्रिकेट बैट लेकर आयी दीक्षा ने एक बैट संध्या को देकर कहा चलो बैटिंग करते हैं। मुर्गा बनी बीना के चूतड़ों पर निशाना लगाकर दोनों ने एक साथ जो बैट से प्रहार किया तो डकराती हुई बीना नीचे गिर गयी। दोगी लिफाफा। नहीं बीना ने कहा और वो मुर्गा बन गयी। लगातार 10 बैट के प्रहार खाने के बाद उसने लिफाफा देना मंजूर किया लेकिन संध्या ने कहा सो लेट अब तुम लिफाफा भी दोगी और पनिशमेंट भी पूरा करोगी। बीना को पास के पेड़ के पास मुर्गा बनाकर उसकी पीठ पर एक वजनी पत्थर रखकर दीक्षा और संध्या अंदर चली गयीं। इधर दर्द से तड़प रही बीना इतना दर्द झेलने के बाद भी खुश थी तो वहीं दीक्षा और संध्या आगे का प्लान बना रहीं थी।

Your Trust & Support are most valuable for our existence. Thank you!

Murga Punishment

What's App Link

 PayPal Payment

facebook-messenger-icon-png-image-free-d

Messenger Link

68253-icons-by-computer-inbox-android-em

Murga Videos Email

FAVPNG_telegram-logo_CnYrMEdY.png

Telegram @tedx24

instamojo.png

Instamojo Gateway

420-4209003_transparent-scan-code-png-fa

Instagram Link