Recent Posts

Tags

Simran failed in her Semester Exams (A Punishment Lover Story)

शनिवार को सिमरन का रीज्ल्ट आना था जिसको लेकर सिमरन काफी परेशान थी उसे डर भी लग रहा था की अगर वो फेल हो गयी तो tution क्लास में उसका क्या होगा! आख़िर में रीज्ल्ट आ गया और सिमरन 6 में से 3 विषय में फेल हो गयी और तो और बाकी के 3 विषय में भी उसके अंक ज्यादा अच्छे नहीं थे! सिमरन काफी उदास हो गयी थी! उसने अभिमन्यु सर की क्लास में admission लेकर काफी बड़ी आफत मोल ले ली थी पर अब जो बोया है उसे काटना तो पड़ेगा ही! ये सोचकर सिमरन घर आ जाती है! वो क्लास के लिये तैयार हो रही थी तभी उसे अंकिता मेम का फोन आता है और वो उसे आज आने के लिये मना कर देती है! अंकिता मेम बोलती है सिमरन आज क्लास मत आना आज मुझे अभिमन्यु को लेने एरपोर्ट जाना है इसलिए कल अपना रिज़ल्ट कार्ड लेकर आना ओके ! सिमरन यस मेम में रिप्लाइ करती है! फोन कट करने के बाद सिमरन खुश हो जाती है की कम से कम आज उसे कोई सजा नहीं मिलेगी! पर थोड़ी ही देर में वो फिर से उदास हो जाती है और सोचने लगती है की कल तो अभिमन्यु सर भी आ जायेंगे सो कल तो डबल वाट लगेगी! ऐसा सोचकर सिमरन सो जाती है अगले दिन रविवार को सुबह उठकर सिमरन ब्रेकफास्ट करती है उसके बाद नहाकर एक पटियाला ड्रेस पहनती है! जिसमें ब्लू कलर का प्रिंटेड सूट, रेड कलर की हेवी पटियाला सलवार, रेड पल्लू और रेड कलर की प्रिंटेड पटियाला जूत्तिया है ! ड्रेस डालकर सिमरन अपना बेग लेती है उसमें अपना रिज़ल्ट कार्ड रखती है और स्कूटी लेकर क्लास्स के लिये निकल जाती है ! क्लास्स पहुंचकर सिमरन डोर बेल बजाती है अंदर से अभिमन्यु सर डोर खोलते है ! सिमरन अभिमन्यु सर को विश करती हैं ! अभिमन्यु सर सिमरन को रिप्लाइ करते है! और उससे बातें करने लगते है! सिमरन आपकी स्टडी कैसी चल रही है बेटा ! सिमरन रिप्लाइ करती है ठीक चल रही है सर! अभिमन्यु सर बोलते है ओके चलो क्लासरूम में जाकर बेठो आज आपकी क्लास मैं लूंगा! और आप रिज़ल्ट कार्ड लेकर आये हो ना! सिमरन रिप्लाइ यस सर !ओके रिपोर्ट कार्ड मुझे दो और क्लासरूम में जाकर बेठो!सिमरन डरते हुए रिपोर्ट कार्ड बेग से निकालती है और अभिमन्यु सर को देती है और सीधे क्लासरूम में जाकर बैठ जाती है ! नीचे अभिमन्यु सर सिमरन का रिज़ल्ट देखकर गुस्से से आग बबूला हो जाते है!अब अभिमन्यु सर एक मोटा गोल डंडा उठाते है और सीधे क्लासरूम की तरफ बढ़ते है! क्लासरूम के दरवाजे तक जाकर रुक जाते है! अभिमन्यु सर काफी गुस्से में थे वो गुस्से से चिल्लाते है सिमरन बाहर आओ! सिमरन समझ चुकी थी इसलिये वो चुपचाप बाहर आकर खड़ी हो जाती है! तो ये स्टडी चल रही है आपकी! सिमरन चुपचाप सिर झुकाकर खड़ी रहती है! मेने कुछ पूछा है आपसे सुनाई नहीं दिया दोबारा रिपीट करूं क्या गुस्से से अभिमन्यु सर पूछते है! ''नहीं सर वो मेने ठीक से स्टडी नहीं की इसलिये फैल हो गयी आई एम सॉरी सर आगे से एसा नहीं होगा'', सिमरन सर नीचे किये हुये जवाब देती है! वेरी गुड क्या जवाब दिया है आई एम इम्प्रेस विद यु अब एक काम करो आगे आ जाओ और इस रेलिंग पर आगे की तरफ झुक जाओ और दोनों हाथों से रेलिंग को पकड़ लो. सिमरन धीरे धीरे आगे बढ़ती है और रेलिंग के पास जाकर उसपर कमर से पूरी तरह झुक जाती है और दोनों हाथों से रेलिंग के पिल्लर्स को पकड़ लेती है! अब सिमरन का चेहरा नीचे ग्राउंड फ्लोर की तरफ था जिससे वो नीचे सोफे पर बैठी अंकिता मेम को साफ साफ देख सकती थी!चलो अपनी टांगें चौड़ी करो अभिमन्यु सर ने ऑर्डर दिया! सिमरन ने ऑर्डर मिलते ही अपनी दोनों टांगें फेला ली और डंडे पड़ने का इंतजार करने लगी! सिमरन के दिल की धड़कने तेज हो गयी थी रेलिंग पर झुके होने से सूट पूरी तरह चूतड़ों पर चिपक गया था जिससे बीच की धारी देखी जा सकती थी! अब अभिमन्यु सर ने डंडा सिमरन के चूतड़ पर थपथपाया और हवा में उठाकर खींच कर दे मारा! आईईईईईईईई सर सॉरी सिमरन के मुंह से दर्द से चीख निकल गयी! दूसरा डंडा हवा में गया और सिमरन के चूतड़ों पर लेंड हुआ! इस बार चीख सिमरन के गले में दबकर रह गयी! फिर तीसरा फिर चोथा उसके बाद पांचवा ऐसे करके डंडों पर डंडे पड़ने लगे! सिमरन बुरी तरह चीख चिल्ला रही थीं उसने रोना शुरू कर दिया था! पर अभिमन्यु सर पर उसके रोने का कोई असर नहीं हो रहा था वो बस कान बंद करके डंडे मारने में व्यस्त थे! सिमरन को मार खाते देख अंकिता मेम भी ऊपर आ गयी! क्या हुआ अभि क्यों इतना गुस्सा हो अंकिता मेम ने अभिमन्यु सर से पूछा! ''जेसे की आपको तो कुछ पता ही नहीं है 3 सब्जेक्ट में फैल है और बाकी 3 में भी झंडे नहीं गाड रखे! वेसे मुझे आपसे पूछना चाहिये क्या पढ़ाया है आपने इसे'', अभिमन्यु सर गुस्से में बोलते है! अभिमन्यु सर को ऐसे बोलते देख अंकिता मेम को भी गुस्सा आ जाता है हेल्लो सिमरन खड़ी हो जाओ! सिमरन खड़ी होकर अपने दोनों हाथों से डंडे खाने के कारण दुख रहे चूतड़ों को मसलने लग जाती है!अंकिता मेम का चेहरा गुस्से में लाल हो जाता है वो सिमरन बायें हाथ से सिमरन का राइट कान उमेठने लगती है! सिमरन दर्द से दोहरी हो जाती है आई एम सॉरी मेम वो मेने ठीक से स्टडी नहीं की! अंकिता मेम उसके कान को और जोर से मरोडती है! सिमरन दर्द के कारण चिल्लाती है और अंकिता मेम के हाथ को दूर हटाने की कोशिश करती है जिससे अंकिता मेम को गुस्सा आ जाता है और वी खींचकर एक थप्पड़ उसके राइट गाल पर मारती है अच्छा इतनी बड़ी हो गयी की मेरा हाथ पकडेगी और एक और जोरदार थप्पड़ उसके गाल पर मारती है! सिमरन चुपचाप अपने हाथ पीछे करके बांध लेती है अंकिता मेम और जोर से उसके कान उमेडती है तू ऐसे नहीं सुधरेगी तुझे ठीक से समझाना पड़ेगा गुस्से से अंकिता मेम सिमरन के दोनों कानों को मरोडति है! सिमरन अपने दोनों हाथों को पीछे बांधे हुये सॉरी मेम सॉरी मेम चिल्लाने लगती है! चल गार्डेन में चल कर तुझे वही पनिशमेंट मिलेगी! सिमरन गार्डेन की तरफ चलना शुरू करती है तभी अभिमन्यु सर उसे रोकते है ऐसे नहीं मुर्गा बनकर चल! सिमरन अपने चूतड़ों पर हाथ रखते हुये अपने सूट को दबाते हुते झुकती है और टांगों के बीच से हाथों को निकालकर दोनों कान पकड़ लेती है और धीरे धीरे आगे चलना शुरू करती है! अंकिता इसका सूट ऊपर की और फोल्ड कर दो! अंकिता मेम सिमरन के सूट को ऊपर फोल्ड कर देती है जिससे रेड पटियाला सलवार में उसके चूतड़ बिल्कुल विज़िबल हो गये! गले से होता हुआ उसका पल्लू नीचे लटक रहा था! अंकिता मेम ने उसके पल्लू को भी ऊपर कमर पर बांध दिया! अब सिमरन चलने लगी और अभिमन्यु सर के स्ट्रोक उसके चूतड़ों पर पड़ने लगे!स्टेर्स से भी सिमरन मुर्गा बनकर ही उतरी! हर स्टेर्स पर उसे डंडा पड रहा था! ''अभिमन्यू गार्डेन में ले जाकर डंडे मार लेना यहा स्टेर्स पर मत मारो गिर जायेंगी वो'', अंकिता मेम ने अभिमन्यू सर से कहा! अरे कुछ नहीं होगा कहीं नहीं गिरेगी ये अंकिता मेम की बात काटते हुये अभिमन्यु सर एक जोरदार स्ट्रोक सिमरन के चूतड़ों पर मारते है चल जल्दी चल इतना टाइम नहीं है! इस बार स्ट्रोक काफी हार्ड था जिससे सिमरन दर्द के मारे चीख पड़ती है! आअह्हह्ह सर चल रहे है! जेसे तेसे सिमरन गार्डेन में पहुंची! सिमरन आज धूप में जाकर मुर्गा बन जाओ हिप्स बिल्कुल हवा में उठे हुये होने चाहिये! नीचे करने की परमीशन बिल्कुल नहीं है समझी! और ये पल्लू साइड में रख दो अभिमन्यू सर गुस्से में सिमरन को ऑर्डर देते है! सिमरन चुपचाप धूप में जाकर मुर्गा बन जाती है और अपने चूतड़ों को पूरी तरह हवा में उठा लेती है! अंकिता एक काम करो इसके हिप्स पर 3 ईंटें रख दो! अंकिता मेम 3 ईंटें लाती है और एक एक करके सिमरन के चूतड़ों पर रख देती है! सिमरन को कड़कती धूप में मुर्गा बनाकर अभिमन्यु सर और उनकी वाइफ दोनों गार्डेन में बैठ जाते है! सिमरन की हालत काफी खराब हो चुकी थी ऊपर से जब भी ईंटें नीचे गिरती उसके चूतड़ों पर डंडों की बारिश शुरू हो जातीइ कभी अभिमन्यु सर उसका बेंड बजाते तो कभी अंकिता मेम! सिमरन बुरी तरह रो रही थीं और रहम की भीख मांग रही थी लेकिन दोनों में से कोई भी मर्सी दिखाने के लिये तैयार नहीं था! पूरे 1घंटा मुर्गा बनाकर रखने के बाद अंकिता मेम ने उसे खड़े होने का ऑर्डर दिया!जेसे तेसे लड़खड़ाते हुये सिमरन खड़ी हुयी नहीं की उसके गालों पर थप्पड़ पड़ने शुरु और मत करो स्टडी आज तुम्हारी खाल खींचनी पड़ेगी तब जाकर तुम सुधरोगी थप्पड़ मारते हुये अंकिता मेम सिमरन को लेक्चर देती है! कुछ सेकेंड्स में सिमरन के गाल टमाटर की तरह लाल हौ जाते है! ''सिमरन चलो 50 उठक बैठक लगाओ कान पकड़ कर और हा बैठते वक्त हिप्स हिल्स को टच करने चहिये वरना पीछे से डंडा पड़ता रहेगा चल शुरू हो जा'', अंकिता मेम सिमरन को ऑर्डर देती है! इसके बाद सिमरन उठक बैठक लगाना शुरू करती है वो पूरी 50 उठक बैठक बिना डंडा खाये अच्छे से लगा लेती है आखिर में अभिमन्यु सर उठते है और सिमरन के पास आकर बोलते है चल थोडी सैर हो जाये चलो मुर्गा बनो और राउंड लगाना शुरु करो! सिमरन काफ़ी थक चुकी थी वो पनिशमेंट के लिये मना करना चाहती थी लेकिन डर के कारण मना नहीं कर पाई और मुर्गा बन गयी! अब अभिमन्यु सर अंकिता मेम से उसका सूट फोल्ड करने के लिये बोलते है अंकिता मेम सिमरन का सूट ऊपर कमर तक फोल्ड कर देती है! अभिमन्यु सर एक पेड़ से पतली पतली लचकदार डंडियाँ तोड़ते है और सिमरन को आगे बढ़ने के लिये बोलते है जेसे ही सिमरन चलता शुरू करती है लचकदार डंडियाँ रेड पटियाला सलवार में उठे सिमरन के चूतड़ों पर पड़ना शुरू होती! सिमरन रोते गिडगिडाते हुये आगे बढ़ती है वो बार बार मर्सी के लिये बोलती है पर शायद आज उसका दिन नहीं था! आखिरकार जेसे तेसे सिमरन गार्डेन के 4 राउंड कम्पलीट करती है! आखिर में अभिमन्यु सर उसे खड़ा करते है और दोनों हाथ आगे करने के लिये बोलते है फिर सिमरन के हाथों पर जमकर डंडे बरसते है ''एक काम करना मैं तुम्हारी नोटबुक में एक नोट्स लिखकर देता हूँ उसके साथ इस रिज़ल्ट कार्ड को लगाकर अपने पेरेंट्स के सिग्नेचर लेकर आना समझी'', डंडे लगाते हुये अभिमन्यु सर सिमरन को ऑर्डर देते है! अंत में उनका डंडा सांस लेता है ओके अब तुम जा सकती हो!................ पिक्चर अभी बाकी है मेरे यार इसलिये अगले अंक का इंतजार करो

Your Trust & Support are most valuable for our existence. Thank you!

Murga Punishment

What's App Link

 PayPal Payment

facebook-messenger-icon-png-image-free-d

Messenger Link

68253-icons-by-computer-inbox-android-em

Murga Videos Email

FAVPNG_telegram-logo_CnYrMEdY.png

Telegram @tedx24

instamojo.png

Instamojo Gateway

420-4209003_transparent-scan-code-png-fa

Instagram Link